होमकोरोना वायरसकोरोना वायरस से निपटने के लिए मैदान में उतरी आरा की बेटियां

कोरोना वायरस से निपटने के लिए मैदान में उतरी आरा की बेटियां

आरा। भोजपुर जिले के आरा की बेटियां कोरोना वायरस से निपटने के लिए अब मैदान में उतर चुकी है। ये बेटियां शहर और गांव के घर-घर जाकर कोरोना संक्रमण होने से खुद को कैसे बचाये, इसके लिए सभी को जागरूक कर रही है। गांव व शहर के लोगों को ये लड़कियां घूम-घूम कर विभिन्न तरह की सावधानियों के तरीके के बारे में बता रही है। अंजली ने बताया कि इस दौरान हम लोग लोगों को खांसने और छींकने पर बचाव के उपाय बता रहे हैं। साफ-सफाई और हाथ धोने को लेकर,लोगों को जागरूक कर रहे है। वहीं हम लोग तीसरे दिन कोरोना योद्धा हमारे भोजपुर की पुलिस के बीच जाकर उनका थर्मल स्कैनिंग किया। उसके बाद हम सभी लड़कियां शहर के चंदवा, मौलाबाग, महिला थाना, मुफस्सिल थाना होते हुए एसपी ऑफिस में लोगों को कोरोना वायरस से निपटने के लिए जागरूक किया।

अंजली बताती है कि गांव वाले हमारी इस पहल पर सराह रहे है। गांव के लोगों को हमारी टीम के द्वारा प्रतिदिन दवाइयों का कीट बांटा जाता हैं। इसके साथ ही सभी को सेनिटाइजर भी बांटी जाती है। अभी तक हम लोगों ने 70 घरों में दवाइयों का कीट बांटा है। अंजली का कहना है कि कोरोना जैसे वायरस से घबराने की जरुरत नहीं है बल्कि उससे बचाव कर के इस गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है। इनका मानना है की हम गांव के लोगों को जागरूक कर रहे हैं। इसके साथ ही आरा की ये बेटियां केवल बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश को एक संदेश भी दे रही हैं। वहीं अनामिका केसरी ने बताया कि यह अभियान एक सार्थक अभियान है। देश के साथ बिहार में भी वैक्सीन को लेकर अफवाह फैलाई जा रही थी। बहुत लोग उसी अफवाह की वजह से वैक्सीन नहीं ले रहे थे। ज्यादातर लोग गांवों के है। जिनके पास संचार की सुविधा नहीं होती या फिर उनके पास सही जानकारी नहीं पहुंचती है। इसको लेकर हम सभी लड़कियां गांव-गांव में जाकर लोगों को वैक्सीन लेने के लिए जागरूक कर रहे है। ज्योति ने बताया कि हम लोग संकल्पित होकर गांव में लोगों को जागरूक कर रहे है। यह अभियान राष्ट्रव्यापी अभियान है। लगातार सात दिन हम लोग गांव के लोगों से जुड़े रहेंगे और सेवा भाव से मदद करते रहेंगे।

Click To Join Us on Telegram Group

Must Read

Translate »