Home देश समाजवाद के प्रतीक है लालू : आलोक रंजन

समाजवाद के प्रतीक है लालू : आलोक रंजन

0
समाजवाद के प्रतीक है लालू : आलोक रंजन

आरा (अख्तर शफी- ब्यूरो प्रमुख) । राजद सुप्रीमो व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की रिहाई के लिए बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व लालू के बड़े बेटे तेज़ प्रताप यादव ने एक मुहिम छेड़ी है। तेज़ प्रताप ने भारत के राष्ट्रपति के नाम “आज़ादी पत्र” की शुरुआत पटना में की थी जो की अब व्यापक रूप से पूरे बिहार में चल रहा है। आज़ादी पत्र के माध्यम से बिहार की जनता अब पोस्टकार्ड लिख कर राष्ट्रपति को भेजने लगे हैं। इस मुहिम को लेकर बिहार में छात्र राजद द्वारा ज़ोर शोर से गाँव-गाँव का भ्रमण किया जा रहा और लोगों से यह पत्र लिखवाया जा रहा।

इस मुहिम में कई लोग स्वयं जुड़ते चले जा रहे हैं। आज रविवार को छात्र राजद भोजपुर द्वारा इस मुहिम को आरा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत गंगहर, पैठानपुर और दुलारपुर गाँव में कैम्प लगाकर शुरुआत किया गया। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि पहुँचे छात्र राजद बिहार प्रदेश के नेता आलोक रंजन ने सर्वप्रथम पोस्टकार्ड लिख कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मौक़े पर श्री रंजन ने कहा की लालू प्रसाद यादव जी सदैव ग़रीबों-पिछड़ो-वंचितो की लड़ाई लड़े हैं। बतौर केंद्रीय रेल मंत्री उन्होंने भारतीय रेलवे को और सशक्त बनाया। वो एक समाजवाद के प्रतीक हैं। ऐसे जन नेता जिनका संपूर्ण जीवन ग़रीबी और ग़रीबों के बीच बिता हो और जिनकी वर्तमान स्वास्थ्य की हालत एकदम बुरी हो ऐसे व्यक्ति को जेल में रखना कही से भी उचित नही है। ऐसे में छात्र राजद बिहार के प्रत्येक गाँव-शहर तक पहुँच रही है और लोगों से महामहिम राष्ट्रपति के नाम “आज़ादी पत्र” लिखवा कर आग्रह कर रही है की ग़रीबों के मसीहा लालू प्रसाद यादव जी को अविलंब रिहा किया जाए।

वहीं दूसरी ओर छात्र राजद भोजपुर के पूर्व प्रधान महासचिव मुन्ना सम्राट ने कहा की लालू जी एक व्यक्ति ही नही बल्कि विचारधारा हैं। ऐसे महान शख़्सियत को रिहा करने के लिए हमलोग के संरक्षक तेज़ प्रताप यादव और प्रदेश अध्यक्ष आकाश यादव ने मुहिम चलाया है। उस मुहिम को भोजपुर जिला इकाई ग्रामीण स्तर पर ले कर आयी है और हमलोगो का लक्ष्य है की तक़रीबन पचास हज़ार पोस्टकार्ड भोजपुर जिला से जाये। मौक़े पर राजद गंगहर पंचायत अध्यक्ष धंजित यादव ने कहा की “आज़ादी पत्र” अभियान अनवरत जारी रहेगा जबतक हमलोगो के नेता को रिहा नही कर दिया जाता। उन्होंने गंगहर पंचायत के ग्रामीणों के प्रति आभार भी प्रकट किया। कार्यक्रम में छात्र नेता अनुज यादव , अमित कुमार ठाकुर , सोहैल अख़्तर , देव यादव समेत कई ग्रामीण जनता उपस्थित रहे।