Home देश आरा में किसान आंदोलन के समर्थन में जगह-जगह किया गया चक्का जाम

आरा में किसान आंदोलन के समर्थन में जगह-जगह किया गया चक्का जाम

0
आरा में किसान आंदोलन के समर्थन में जगह-जगह किया गया चक्का जाम

भोजपुर (अख्तर शफी-ब्यूरो प्रमुख)। किसान विरोधी तीनो कानून रद्द करो, बिजली विधेयक 2020 वापस लें सरकार,  दिल्ली किसान आंदोलन के दौरान किसान एवं पत्रकार पर लादे गये झूठे मुकदमें वापस लेने, जेल में बंद किसान- पत्रकार- सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ता को रिहा करने, बिहार में बाजार समिति को बहाल करने, बंद पड़े चीनी मिल चालू करने आदि मांगों को लेकर अखिल भारतीय किसान महासभा एवं राजद,सीपीआई,भाकपा माले,के संयुक्त बैनर तले आरा के बस पड़ाव के पास, कोइलवर कायम नगर में, संदेश में चौक पर, अगिआंव में आरा – अरवल मुख्य सड़क पर, गड़हनी में आरा – सासाराम मुख्य सड़क,चरपोखरी में आरा – सासाराम मुख्य सड़क, पीरो में लोहिया चौक, तरारी में तरारी, मोपति बाजार, जेठवारा, फतेपुर, सहार में एकवारी बस स्टैंड के पास, सहार बस स्टैंड के पास, जगदीशपुर में नयकटोला मोड़ , बिहिंया में नवोदय मोड़ के पास जाम किया गया. जाम के दौरान इंटरमीडिएट परीक्षार्थी, अविभावक के साथ ही एंबूलेंस, दूध, सब्जी आदि आवश्यक सेवाओं से संबंधित गाड़ियों को रास्ता देकर निकलने दिया गया। जाम से सड़क के दोनों ओर वाहनों का तांता लग गया। किसान जाम स्थल  पर  केंद्र सरकार के खिलाफ आक्रोशपूर्ण नारे लगाते रहे। 

जाम को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान महासभा के जिला अध्यक्ष व तरारी के भाकपा – माले विधायक सुदाम प्रसाद ने कहा कि किसान विरोधी तीनो कानून से देश की आम  जनता के थाली से भोजन गायब हो जाएगा, पीडीएस की दुकान बंद हो जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर यह कानून लागू होता है तो देश के अर्थव्यवस्था पर कॉरपोरेट घराने, अडानी – अम्बानी का कब्जा हो जाएगा। जाम को सम्बोधित करते हुए भाकपा – माले केंद्रीय कमिटी सदस्य व अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय नेता राजू यादव ने कहा कि मोदी सरकार किसान आंदोलन से डर गई है। घबराहट में लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन कर रहे किसानों को, ग्राउंड रिपोर्ट कर रहे पत्रकारों, पक्ष में बोल रहे देशी विदेशी बुद्धिजीवी पर फर्जी मुकदमा कर आवाज को दबाना चाहती है। आंदोलन अस्थल को किलेबंदी कर लोकतंत्र पर हमला बोल रही है। लेकिन देश के किसान कानून वापसी तक आंदोलन जारी रखेंगे । मौक़े पर सभा को संबोधित करते हुए राजद ज़िलाध्यक्ष बीरबल यादव ने कहा कि मोदी सरकार किसानों के आंदोलन से आतंकित है। दिल्ली के चारो तरफ की किलेबन्दी व मोदी सरकार की हठधर्मिता इस बात के लिए गवाह है कि मोदी सरकार अडानी-अंबानी के हाथों बिक चुकी है।

एक स्वर से तीनों काले कृषि कानूनों को भी वापस लेने की बात कही। अंत मे नेताओं ने कहा कि  आज देश के कोने – कोने से किसान दिल्ली की ओर रवाना हो रहें हैं। और जब तक तीनो कानून वापस नही होगा आंदोलन चलते रहेगा। आरा में जाम का नेतृत्व भाकपा – माले राज्य कमिटी सदस्य व इंसाफ मंच राज्य सचिव क्यामुद्दीन अंसारी, आइसा राज्य सचिव शब्बीर कुमार, माले जिला कमिटी सदस्य गोपाल प्रसाद, राजनाथ राम, पप्पू कुमार राम,निरंजन केशरी,रामानुज जी,अजय गांधी,परशुराम सिंह,हरेराम सिंह, नगर कमिटी सदस्य दीना जी,राजेन्द्र यादव,अभय कुशवाहा, सुरेश पासवान, रौशन कुशवाहा,कौलेशी चौधरी,सीपीआई जिला सचिव ज्योतिष कुमार,प्रमोद यादव,माधो सिंह, रामेश्वर सिंह,रामायण सिंह, राजद भोजपुर ज़िलाध्यक्ष श्री वीरबल यादव , प्रधान महासचिव रामबाबू पासवान , कपिल देव अकेला , ओमप्रकाश शर्मा , एकराम आलम , अनंत जी , युवा राजद जिला अध्यक्ष अरुण सिंह यादव , ज़िप सदस्य शैलेंद्र कुमार , महफ़ूज़ आलम , छात्र राजद नेता आलोक रंजन , अमित कुमार ठाकुर , वतन प्रभात , मुन्ना सम्राट , रजनीश यादव , छोटू यादव , सोहैल अख़्तर , तेजू त्यागी , भीम कुमार , दीपक यादव , पंकज सम्राट , जगदीश कुशवाहा , कुणाल कुमार , चंदन कुमार आदि कर रहे थे। बस स्टैंड में सभा की अध्यक्षता नगर सचिव दिलराज प्रीतम ने किया। 

कोइलवर के कायम नगर में भाकपा माले , किसान महासभा द्वारा चक्का जाम किया जिसका नेतृत्व भाकपा माले बड़हरा विधानसभा प्रभारी नंद जी, भाकपा माले प्रखंड सचिव विष्णु ठाकुर, ललन यादव, विशाल कुमार, मुखदेव राम बोस, कन्हैया कुमार, निर्मल शर्मा,  जनक गुप्ता, पहाड़ी रजक, मंटू कुमार , किसान नेता दसरथ सिंह सहित कई लोगों ने किया। संदेश में भाकपा – माले केंद्रीय कमिटी सदस्य व जिला सचिव जवाहर लाल सिंह, प्रखंड सचिव जीतन चौधरी, नीलम कुंवर, संजय गुप्ता, चंद्रमा ठाकुर सहित कई लोगों ने किया। सहार के सहार प्रखंड में दो जगह सड़क जाम हुआ। सहार में उपेन्द्र भारती, रामकिशोर राय, मदन सिंह, रामदत राम, रामानंद ठाकुर, सुरेश राम, मोबीन अंसारी, विजय भारती, अभिनय कुमार, गुलमुहमद, राजद एजाज अहमद, मोहन सिंह, एकवारी में शिवजी पासवान,टेगारी राम,महेश राम, अलगू राम, उर्मिला देवी,नथुना ठाकुर, नन्द जी राम, सुरेश पांडेय आदि। अगिआंव में माले केंद्रीय कमिटी सदस्य व अगिआंव विधायक मनोज मंज़िल, प्रखंड सचिव रघुवर पासवान, प्रखंड कमिटी सदस्य व विधायक प्रतिनिधि जयकुमार यादव, भोला यादव। 

गड़हनी में प्रखंड सचिव छपित राम, इनौस जिला संयोजक शिव प्रकाश रंजन, जिला कमिटी सदस्य अवधेश पासवान, अखिलेश जी, युवा नेता हरिनारायण, इंद्रदेव राम सहित कई लोगों नर किया। चरपोखरी  में प्रखंड सचिव महेश प्रसाद, टेंगर राम मकबूल अंसारी ने किया। पीरो में प्रखंड सचिव संजय जी, किसान नेता चंद्रदीप सिंह, युवा नेता मनीर आलम, सन्नी पासवान ने किया। तरारी में प्रखंड सचिव रमेश जी, जिला कमिटी सदस्य कामता प्रसाद, रामदयाल राम, बलिराम सिंग, ललन मास्टर आदि लोगों ने किया । जगदीशपुर प्रखंड जगदीशपुर विधायक राम विष्णु सिंह लोहिया, विजय ओझा किसान नेता बिनोद कुशवाहा, छात्र नेता कमलेश यादव,  अधिवक्ता व माले नेता वृंदा यादव ने किया।  

बिहिंया में प्रखंड सचिव हरेंद्र सिंह, पन्ना लाल, ईश्वर चंद, मो असलम, अजय ,दीपू आदि ने किया। वही संयुक्त किसान मोर्चा के आवाहन पर पूरे देश में चक्का जाम के समर्थन में जन अधिकार पार्टी लोo के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव जी के निर्देशानुसार जन अधिकार पार्टी भोजपुर जिला इकाई के द्वारा आरा बक्सर मुख्य मार्ग पर चंदवा के निकट चक्का जाम किया गया जिसमें जन अधिकार पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए। अध्यक्षता भोजपुर जिला अध्यक्ष आशुतोष सिंह उर्फ राजू सिंह ने किया । संचालन आरा पश्चिमी प्रखंड अध्यक्ष सनोज कुमार यादव ने किया । पार्टी के युवा प्रदेश सचिव अविनाश कुमार उर्फ लड्डू यादव ने बताया कि सरकार बिल्कुल गूंगी और बहरी हो चुकी है उसको गरीब किसानों की चिंता नहीं है हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी को अंबानी जी के बच्चे के बर्थडे में जाने का समय है लेकिन जो गरीब किसान दिल्ली बॉर्डर पर कड़ाके की ठंड में अपना हक लेने के लिए लगातार 72 दिन से आंदोलन कर रहे हैं उनसे मिलने का समय नहीं है। जाप जिलाध्यक्ष आशुतोष सिंह ने कहा कि जब तक सरकार द्वारा एमएसपी लागू नहीं हो जाता, मंडी वापस नहीं हो जाती तब तक हमारी पार्टी धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य है  हमारा आंदोलन सदैव चलता रहेगा। वही रितेश कुमार ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा लगातार किसानों की उपेक्षा की जा रही है षड्यंत्र के तहत किसानों के मांगों को दबाने की कोशिश की जा रही है। साथ ही जन अधिकार पार्टी के प्रधान महासचिव कमलेश तिवारी जी ने कहा कि केंद्र द्वारा पारित कृषि विधेयक बिल गरीब किसानों के लिए फायदेमंद साबित नहीं होगा  इस बिल से कालाबाजारी बढ़ेगी जब तक यह बिल सरकार द्वारा वापस नहीं ले ली जाती तब तक हमारी पार्टी इसका विरोध करती रहेगी। चक्का जाम में में मुख्य रूप से शामिल लोगो में जन अधिकार पार्टी के मनोज सिंह युवा प्रदेश सचिव लड्डू यादव ,पप्पु यादव, अर्जुन यादव,  पिंटू सिंह ,मुकेश तिवारी, रितेश कुमार, सनोज कुमार ,शशि यादव ,बंटी कुमार  राजू कुमार, रजनीश यादव एवं सैकड़ों  कार्यकर्ता शामिल थे। जहां पूरे देश में किसान आंदोलन विगत 2 महीने से भी ज्यादा समय से चल रहा है और किसान द्वारा तीनों कृषि बिलों का विरोध किया जा रहा है एवं तीनों कृषि बिल को वापस लेने की लगातार सरकार से मांग हो रही है इसी क्रम में आज पूरे भारत में चक्का जाम का आयोजन किया गया था देशभर में चक्का जाम का मिलाजुला असर देखा हुआ है भोजपुर जिला में चक्का जाम का असर पूरी तरह से बेअसर दिखा।  हालांकि जिलाध्यक्ष आशुतोष सिंह ने कहा कि चुकी आज परीक्षा का भी दिन है इसलिए परीक्षार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए थोड़े समय के लिए ही यह चक्का जाम किया गया है।

जबकि केंद्र सरकार द्वारा लाये गए किसान विरोधी बिल के खिलाफ पीरो लोहिया चौक पर जन अधिकार पार्टी, भाकपा माले और सभी किसान संघठनों द्वारा सुबह से ही आरा-सासाराम और बिहियाँ रोड को पूरी तरह से आवागमन बाधित कर रखे था। इस कार्यक्रम में आये हुऐ लोगों को सम्बोधित करते हुए जाप के प्रदेश सचिव संजय यादव ने कहाँ की केंद्र की मोदी सरकार हमेशा गरीब और मजदूर तबके के लोगों का अनदेखा करती चली आ रही हैं। देश के सभी सरकारी संस्थाओ को निजी करके पूंजीपतियों को और ज्यादा मालामाल कर रही हैं। सबसे ज्यादा अत्याचार तो अब हम सभी किसान के ऊपर करने को आतुर हो गई। दिल्ली और पुरे देश के किसान और किसान नेता विरोध कर रहे हैं। दिल्ली में इस ठंडी में भी लोग विरोध जताते जताते महीने से ज्यादा से चले आ रहे हैं। हमारे पार्टी सुप्रीमों पूर्व सांसद पप्पु यादव और हमारी पार्टी शुरुआत से ही इस नियम का विरोध करते आ रही हैं। हम कभी भी पीछे हटने वाले नहीं हैं केंद्र सरकार के मनसूबे पर पानी फेरकर ही दम देंगे। सभा को सम्बोधित करते हुए माले के पूर्व विधायक किसान नेता चंद्रदीप सिंह ने कहा कि सभी लोग दम-ख़म के साथ इस किसान विरोधी नीति का विरोध करते हैं। केंद्र और राज्य मे बैठी सरकार ने आँख मुँद रखी हैं हम इसे कतई बर्दास्त नहीं करेंगे। रोड़ जाम कार्यक्रम में जाप के प्रखंड अध्यक्ष भगवान सिंह, युवा प्रखंड अध्यक्ष दीपक कुमार,पूर्व मुखिया बटेश्वर सिंह,तुलसी सिंह, मनीर आलम, शिवकेश्वर सिंह,शंकर सिंह, मदन सिंह सहित सैकड़ो किसान-मजदूर शामिल हुए।