Home देश प्रेम पंकज की मांग, पूर्वी चंपारण, मोतिहारी की तरह समय निर्धारित करे जिला प्रशासन

प्रेम पंकज की मांग, पूर्वी चंपारण, मोतिहारी की तरह समय निर्धारित करे जिला प्रशासन

0
प्रेम पंकज की मांग, पूर्वी चंपारण, मोतिहारी की तरह समय निर्धारित करे जिला प्रशासन

देश मे लॉकडाउन 3.0 चल रहा है हर तरफ लोगो को कोरोना महामारी में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है तो वही भोजपुर जिले के व्यवसाई भी असमंजस की स्थिति में दिखाई दे रहे है। जिसे लेकर भोजपुर जिला व्यवसाई संघ के अध्यक्ष प्रेम पंकज उर्फ ललन ने जिलाधिकारी को ईमेल भेजकर दुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए समय निर्धारित करने की मांग की है।

व्यवसाई संघ अध्यक्ष प्रेम पंकज ने डीएम से की मांग

आरा | शहजाद आलम | भोजपुर जिला व्यवसाई संघ के अध्यक्ष प्रेम पंकज उर्फ ललन ने जिलाधिकारी को ईमेल भेजकर दुकानों एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए समय निर्धारित करने की मांग की है। भेजे गये ईमेल में उन्होंने कहा है कि देश में कोविड-19 को लेकर लॉक डाउन फेज तीन चल रहा है। दुकान व प्रतिष्ठान खोलने को लेकर व्यवसायी असमंजस में है। समाहरणालय पूर्वी चंपारण, मोतिहारी द्वारा दिए गए कोविड-19 के मद्देनजर व्यवसायिक दुकानों व प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए आदेश जारी किया गया हैं ठीक उसी प्रकार भोजपुर जिला प्रशासन से भी आदेश जारी करने कि मांग कि है।

छोटे व्यवसाई कर रहे दोहरे संकट का सामना

प्रेम पंकज उर्फ ललन ने अपने भेजे गए मेल में कहा है कि अगर भोजपुर जिला प्रशासन पूर्वी चंपारण और मोतिहारी की तरह समय निर्धारित करती हैं तो व्यवसायियों एवं छोटे-छोटे दुकानदारों को राहत मिल सके। इस दौरान सभी दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करेगें। दुकानों पर हैंड वास सैनिटाइजर भी रखेंगे। प्रेम पंकज ने कहा कि ई-कॉमर्स द्वारा सभी सामानों की आपूर्ति और स्थानीय व्यवसायियों पर दुकान खोलने पे प्रतिबंध से छोटे व्यवसायी को दोहरे संकट का सामना करना पड़ रहा। 

बहुराष्ट्रीय कम्पनियों को छूट देना “जले पर नमक” के समान

प्रेम पंकज ने कहा है कि जिले के स्थानीय व्यवसायी को दुकान भाड़ा, कर्मचारी का वेतन, बैंक का व्याज के साथ-साथ दुकान बंद होने की वजह से सीजनल आइटम के फंसने का भी खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में बहुराष्ट्रीय कंपनी को इस तरह का छुट देना जले पे नमक छिड़कने के माफिक है। इसको लेकर उन्होनें प्रधानमंत्री को ट्वीट एवं मेल कर लाॅक डाउन के रहने तक सभी प्रकार के नाॅन ऐसेन्शियल गुडस् के लिए ई कामर्स को भी बन्द करने की मांग की है।