होममनोरंजनदूसरे दिन बच्चों ने सीखे अभिनय के कई गुर

दूसरे दिन बच्चों ने सीखे अभिनय के कई गुर

आरा। रेडक्रॉस के बगल में स्थित मंगलम द वेन्यू में चल रहे अभिनव एवं ऐक्ट द्वारा आयोजित स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित 20 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के दूसरे दिन वरिष्ठ रंगकर्मी व निर्देशक रविन्द्र भारती ने बच्चों को अभिनय के प्रकार को बताया। उन्होंने सभी प्रकार के अभिनय के बारे बच्चों को बताया। फिर बच्चों से प्रैक्टिकली भी करवाई गई। इसके साथ ही उन्होंने फिलिंग अभिनय के लिए जरूरी तत्व, ऑब्जर्वेशन और फ्लेक्सिबलिटी के बारे में बताया। वहीं युवा रंगकर्मी आलोक कुमार सिंह ने कार्यशाला में आये बच्चों को मिरर जेम, फेथ गेम के जरिये, टीम और एक दूसरे के बीच मजबूत कोर्डिनेशन का गुर सिखाया। वहीं स्टोरी टेलिंग की विधि और उसको प्रभावी बनाने के तरीकों को बताया गया।

कार्यशाला के दूसरे दिन की गेस्ट भोजपुर महिला कला केंद्र की निदेशक और 93 में कबीरा खड़ा बाजार में मुख्य पात्र की भूमिका निभाने वाली अनिता गुप्ता ने कार्यशाला में आकर बच्चों को बूस्टअप किया। साथ ही उन्होंने अपना अनुभव बच्चों के साथ शेयर किया। उन्होंने बच्चों से कहा कि बच्चे जो दूर से इस कार्यशाला में प्रशिक्षण के लिए आ रहे हैं। उन्हें उनकी ओर से साइकिल मुहैया कराया जाएगा। दूसरे दिन के कार्यशाला में भोजपुर तैराकी संघ के अध्यक्ष और भूतपूर्व सैनिक संघ के अध्यक्ष नर्वदेश्वर शुक्ला,वरिष्ठ पत्रकार गोपाल मिश्रा, वरिष्ठ रंगकर्मी संजय शाश्वत और स्वयंबरा बक्शी ने भी शिरकत किया। सभी ने बच्चों को ऐसे कार्यशाला में आने के लिए धन्यवाद दिया और कहा कि इस तरह के कार्यशालाओं से न सिर्फ अभिनय की क्षमता आती है, बल्कि सर्वांगीण विकास होता है। नर्वदेश्वर शुक्ला ने पर्यावरण और अनुशासन के बारे में बच्चों को बताया और कहा कि अनुशासन को अपनाए।

आगामी दिनों में पेंटिंग, क्राफ्ट, मेकअप, संगीत, नृत्य और कैमरा फेसिंग के बारे में बताया जाएगा।
कार्यशाला में संयोजक ओपी पांडेय ने बताया कि आगामी दिनों में ऑनलाइन क्लास के जरिये भी थिएटर के बारीकियों को जहाँ सत्यकाम आनन्द, जितेंद्र सुमन, अनिरुद्ध पाठक, विष्णु शंकर बेलू, और विजय सिंह सहित कई नामी लोग देंगे। वहीं ऑफलाइन क्लास संजय उपाध्याय, शारदा सिंह, चंद्रभूषण पांडेय, जहाँगीर खान, सतीश मुन्ना, कौशलेश कुमार, कमलेश कुंदन, रौशन राय, मनोज श्रीवास्तव जैसे कई फेमस नाम प्रशिक्षण के लिए नाट्य प्रेमियों को प्रशिक्षित करेंगे। इनके साथ साथ कार्यशाला में रंगकर्मी शैलेन्द्र सच्चू और मनोज श्रीवास्तव मौजूद थे।

Click To Join Us on Telegram Group

Must Read

Translate »