होममनोरंजनतीसरे दिन बच्चों ने सीखा इम्प्रोवाइजेशन, ग्रुप बनाकर दी प्रतुतियाँ

तीसरे दिन बच्चों ने सीखा इम्प्रोवाइजेशन, ग्रुप बनाकर दी प्रतुतियाँ

रविंद्र भारती और ओपी कश्यप ने तीसरे दिन थिएटर की बारीकियों को बताया

आरा। रमना के दक्षिणी रोड में स्थित मंगलम दी वेन्यू में चल रहे अभिनव एवं ऐक्ट द्वारा आयोजित 20 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के तीसरे दिन वरिष्ठ रंगकर्मी व निर्देशक रविन्द्र भारती ने बच्चों को अभिनय के प्रकार को बताया। उन्होंने बच्चों को फीलिंग, ऑब्सरबेशन और रिकॉल के बारे में बताया। इन तीनो को कैसे एक व्यक्ति के अंदर विकसित किया जाय और फिर कैसे थिएटर में इसे यूज किया जाय इसको बताया।

युवा रंगकर्मी ओपी कश्यप ने डिक्शन, अनुशासन, और वॉयस के वैरिएशन के बारे में बताया और उसको विकसित करने के तरीकों के बारे में बताया। तीसरे दिन कार्यशाला में कई अतिथियो का भी आगमन हुआ जिन्होंने बच्चों के बीच अपने जीवन के अनुभव को शेयर किया। विवेकानंद पुरस्कार से सम्मानित मशहूर लोकनर्तक पुनेश पार्थ, लेखक राजेन्द्र शर्मा पुष्कर, रंगकर्मी-पत्रकार मंगलेश तिवारी और रोबोटिक टेक्नोलॉजी पर कार्य करने वाले लव कुमार ने नाट्य कार्यशाला में बच्चों के बीच अपने अनुभव शेयर किया।

आये सभी अथितियों ने बच्चों के कार्य को सराहा और कहा कि ऐसे कार्यशाला का होना बेहद जरूरी है। ऐसे कार्यशालाओं के जरिये कई नई प्रतिभाओं को निखारा जा सकता है। कार्यशाला का मैनेजमेंट मनोज श्रीवास्तव देख रहे हैं।

Click To Join Us on Telegram Group

Must Read

Translate »